Quote

tera ehsaas

rjkmed

.. पिछले भाग से जारी
तेरा एहसास ही है जो अब रहता है हर पल
तेरे हुस्न-ओ-नूर की इबादत है मेरी शगल
इन रानाइयों की शुआओं में खो गया हूँ मैं कि
यह चेहरा ये जुल्फें अब हर जगह करते हैं दखल
… आगे भी जारी है (to be continued)

 

Advertisements